समाचार पत्र पर निबंध हिंदी में (समाचार पत्र का महत्त्व)

समाचार पत्र का निबंध

समाचार पत्र पर निबंध: दोस्तों हमारे जीवन में समाचार पत्र यानी न्यूज़ पेपर बहुत अधिक मायने रखते है साथ ही स्कूल कॉलेज में निबंध प्रतियोगिता के लिए भी निबंध लेखन कार्य करना होता है इसलिए हमने यहाँ समाचार पत्र का निबंध पेश किया है जो आपको आसान शब्दों में दिया गया है।

यह भी पढ़े> राष्ट्रीय एकता और अखंडता पर निबंध हिंदी में (Unity and integrity)

समाचार पत्र पर निबंध (Essay on newspaper)

समाचार पत्र पर निबंध की रुपरेखा

  1. प्रस्तावना
  2. जन्म का विकास
  3. समाचार पत्रों के प्रकार
  4. समाचार पत्रों की आवश्यकता
  5. समाचार पत्रों का दायित्व
  6. समाचार पत्रों की शक्ति
  7. उपसंहार

प्रस्तावना

वर्तमान समय में समाचार पत्रों का महत्व अधिक हो गया है  समाचार पत्र में सबसे प्रबल साधन है जिसके द्वारा हम विश्व की गतिविधियों का ब्यौरा अपने घर पर ही बैठ कर आसानी से प्राप्त कर सकते है।

जन्म का विकास

समाचार पत्रों का जन्म सर्वप्रथम इंग्लैंड में 17वीं शताब्दी में ठहराया गया है भारत में सबसे पहला समाचार पत्र इंडिया गजट के नाम से प्रकाशित हुआ ईसाइयों ने अपने धर्म के प्रचार के लिए समाचार पत्र आपने शुरू किए मुद्रण कला के अविष्कार के साथ ही समाचार पत्रों का विस्तार होता गया आज समाचार पत्र देश में देश में होने वाली घटनाओं से जनसामान्य को प्रबुद्ध तथा जागरूक बना रहे हैं।

समाचार पत्रों के प्रकार

समाचार पत्र के कई प्रकार होते हैं जैसे दैनिक, साप्ताहिक तथा मासिक।  सभी समाचार पत्र विश्व में होने वाली घटनाओं की अधिक से अधिक जानकारी देते हैं।

समाचार पत्रों की आवश्यकता

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। इस कारण वह समाज में होने वाली दिन प्रतिदिन घटनाओं के बारे में जानकारी हासिल करना चाहता है।  इन सब के बारे में समाचार पत्र सशक्त माध्यम है जिसके द्वारा जानकारी हासिल की जा सकती है। 


सरकार था जनता के मध्य की कड़ी समाचार पत्र ही होते हैं।  सरकार की नीतियों तथा विचारों को हम समाचार पत्र के माध्यम से ही जान सकते हैं।  जनता के आक्रोश को सरकार तक पहुंचाने का माध्यम समाचार पत्र ही है।

समाचार पत्रों का दायित्व

समाचार पत्रों का सबसे बड़ा उत्तरदायित्व शक्ति संपन्न होने पर भी संतुलित एवं मर्यादित होना है।  समाचार पत्रों को जनसामान्य का भली प्रकार दिशा निर्देश करना चाहिए।

समाचार पत्रों की शक्ति

समाचार पत्र किसी भी समस्या को लेकर आम जनता को प्रबंध तथा ग्रुप बनाकर सरकार को उसकी बात को स्वीकार करने के लिए विवश कर सकते हैं। 

समाचार पत्र पर निबंध: उपसंहार

आज मानव की जिज्ञासा प्रवृत्ति प्रतिपल नूतन दिशा की ओर अग्रसर है।  मानव के लिए इस दिशा में समाचार पत्रों का महत्व पूर्ण योगदान है। कष्टप्रद स्थिति तब सामने आती है जब समाचार पत्र अपने स्तर से नीचे गिर कर लोभ के लिए  गलत समाचारों का प्रकाशन करते हैं। इस ओर विशेष ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। यह उन्नति के संदेशवाहक है।

हमें उम्मीद है आपको यह लेख समाचार पत्र पर निबंध हिंदी में पसंद आया होगा अतः इसे सोशल मीडिया पर शेयर अवशय करे। हम आगे भी इसी प्रकार Essay Writing Work करते रहेंगे।

-इन्हे भी पढ़े-

समाचार पत्र पर निबंध हिंदी में (समाचार पत्र का महत्त्व)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

शीर्ष तक स्क्रॉल करें