पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध हिंदी में (क्या है, प्रकार और उपाय)

प्रदूषण पर निबंध

पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध हिंदी में: दोस्तों environmental pollution आज वे समय में बहुत ही गंभीर समस्या बन गया है इस प्रदूषण ने सबसे अधिक भारतीय राज्यों को घेरा है जिसमे दिल्ली, कोलकाता और मुंबई जैसे बड़े महानगर भी शामिल है। गावं से लेकर शहर तक सभी स्थानों पर इसने अपना जबरदस्त दबदबा बना रखा है अगर ऐसा ही लगातार होता है एवं प्रदूषण रोकने के उपाय नही खोजे गए तो वो दिन दूर नहीं जब भारत प्रदूषण की विकट स्थिति में होगा

लोग गूगल पर खोजते है-

  1. पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध लिखिए
  2. प्रदूषण निबंध हिंदी में
  3. प्रदूषण का निबंध लिखा हुआ
  4. इत्यादि !

इसलिए हमने इस लेख में पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध हिंदी में रूपरेखा सहित लिखा हुआ है जो आपको बहुत गहरा विचार करने पर मजबूर करेगा।

यह भी पढ़े> भारत की बढ़ती जनसंख्या पर निबंध हिंदी में (Essay Growing Population of India)

पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध (Essay on environmental pollution)

प्रदूषण पर निबंध की रुपरेखा

  1. प्रस्तावना
  2. पर्यावरण प्रदूषण क्या है ?
  3. पर्यावरण प्रदूषण के प्रकार
  4. पर्यावरण प्रदूषण रोकथाम के उपाय
  5. उपसंहार।

प्रस्तावना

पर्यावरण प्रदूषण आज समस्त विश्व के लिए चुनौती बन गया है। इस समस्या का जल्द से जल्द निराकरण होना बहुत ही जरुरी है। आज धरती, वायु, जल और आकाश दूषित हो गए है। अपनी सुख सुविधाओं की सनक में आज का मानव प्रकृति की महान रचना को नुकसान पंहुचा रहा है। पेड़ पौधे लगातार कटान का शिकार हो रहे है जिसके चलते मनुष्य शुद्ध हवा के लिए तरस रहा है।

पर्यावरण प्रदूषण क्या है ?

पर्यावरण प्रदूषण से हमारा तात्पर्य है- वायु, धरती, जल में अवांछनीय परिवर्तन द्वारा दोष पैदा करना एवं उसे नुकसान पहुंचना।

पर्यावरण प्रदूषण के प्रकार

प्रदूषण अनेक प्रकार में विभक्त है जो नीचे निम्न है-

  1. वायु प्रदूषण- आजकल फैक्ट्री तथा कारखानों की चिमनियाँ रात – दिन काला धुआँ उगल रही है। सड़क पर चलते वाहन वातावरण में जहर खोल रहे है।
  2. जल प्रदूषण- आज फैक्ट्री एवं कारखानों द्वारा इस्तेमाल में लाया जाने वाला जल उपयोग के बाद प्रदूषित हो जाता है एवं उसे नदियों, नालो और झरनों में बहा दिया जाता है जिससे अधिक मात्रा में जल प्रदूषित होता है।
  3. रेडिओधर्मी प्रदूषण- विस्फोटों के ढेर के रुप में रेडियोधर्मी कणों का विकास हो रहा है जो स्थ विशेष की वायु को दूषित करता है।
  4. ध्वनि प्रदूषण- आज मशीनों तथा वाहनों के शोर के मध्य में जैसे तैसे हमको जीना पड़ रहा है। इससे स्नायुमंडल पर विशेष जोर पड़ता है। मानव प्रत्येक क्षण तनाव में जीता है। शान्ति उससे कोसों दूर है।
  5. रासायनिक प्रदूषण- आज रसायनिक प्रदूषण खादों के प्रयोग से अन्त तथा स्वाद रहित हो गया है। यह मानव की हेल्थ को भी चौपट किये डाल रहा है।

यह भी पढ़े> राष्ट्रीय एकता और अखंडता पर निबंध हिंदी में (Unity and integrity)

पर्यावरण प्रदूषण रोकथाम के उपाय

प्रदूषण पर नियंत्रण लगाने की महती आवश्यकता है। इसके लिए संगठित होकर प्रयास करना चाहिए। पेड़ों की रक्षा करके और नए वृक्ष लगाकर इस संकट से छुटकारा पाया जा सकता है। ये पर्यावरण को शुद्ध करते यही। यातायात के द्वारा फैले प्रदूषण को बिजली से चलने वाले यन्त्र बनाकर रोक सकते है। नदियों के प्रदूषण को भी मनुष्य कोशिश के द्वारा रोक सकता है।

प्रदूषण पर निबंध: उपसंहार

पर्यावरण की सुरक्षा और उचित संतुलन के लिए हमें जागरुक होना पड़ेगा। वायु, जल, ध्वनि तथा पृथ्वी के प्रदूषण को नियंत्रित कर धीरे – धीरे समाप्त करना चाहिए।

हमें उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध हिंदी में पसंद आया होगा यह गहरी चर्चा का विषय है जिस पर हम सभी को सोचना चाहिए एवं नयी तकनीक खोजना चाहिए ताकि हमें प्रदूषण रोकने के उपाय लागू कर प्रदूषण कम कर सकते सके। इसी में सबका हित सन्निहित है। अतः इस निबंध को सोशल मीडिया पर शेयर अवश्य करे। हम आगे भी इसी तरह हिंदी निबंध लेखन कार्य करते रहेंगे। धन्यबाद!!!

पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध हिंदी में (क्या है, प्रकार और उपाय)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

शीर्ष तक स्क्रॉल करें