साहित्य और समाज पर निबंध हिंदी में (Essay on literature and society)

साहित्य और समाज पर निबंध
इसे शेयर करें:

साहित्य और समाज पर निबंध

: दोस्तों साहित्य और समाज का आपस में एक दूसरे से घनिष्ठ सम्बन्ध होता है साथ ही विद्यालय और कॉलेज में इस पर निबंध लेखन कार्य भी होते है इसलिए हमने यहाँ साहित्य तथा समाज पर हिंदी में निबंध प्रस्तुत किया है पसंद आये तो शेयर अवश्य करे।

साहित्य और समाज पर निबंध

साहित्य और समाज की रूपरेखा

  1. प्रस्तावना
  2. साहित्य और समाज का सम्बन्ध
  3. साहित्य में अद्वितीय क्षमता
  4. साहित्य का उद्देश्य
  5. उपसंहार

प्रस्तावना

साहित्य के कलेवर में मनुष्य की भावनाये एवं विचारों का अंकन होता है। महावीर प्रसाद द्विवेदी ने परिभासित किया है कि ‘ज्ञान – राशि का कोष’ का नाम साहित्य है।

साहित्य और समाज का सम्बन्ध

साहित्य का समाज से अटूट सम्बन्ध होता है जहाँ साहित्य का वास होता है वहां एक अच्छे और मनुष्य समाज का विकास होता है। लेखक भी साहित्य से ही लेखन की प्रेणना लेते है एवं जिस लेखक ने साहित्य को अपनाया है वह साहित्य संसार में लोकप्रिय हुआ। युगों – युगों से समस्त साहित्य में परिवर्तन के स्वर ध्वनित हुए है। (literature and society)

साहित्य समाज की अनेक सड़ी – गड़ी परंपरा और कुरीतियों को बहिष्कृत कर परिष्कृत करता है।

यह भी पढ़े: दहेज प्रथा पर निबंध हिंदी में (Essay on Dowry System in Hindi)

साहित्य में अद्वितीय क्षमता

साहित्य के समक्ष सभी तलवारे, तोप, बंदूके और बारूद, गोला, बम्ब फीके पड़ जाते है। साहित्य समाज का आईना है जिसमे लोग अपने आप को देखते है और समाज में परिवर्तन लाने के लिए प्रयास करते है। साहित्य समाज के लेखा जोखा का चित्रण और समाज का सच्चा प्ररूप है।

साहित्य का उद्देश्य

आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी के अनुसार, समाज ही साहित्य का मुख्य उद्देश्य है।

उपसंहार

निष्कर्ष के तौर पर साहित्य और समाज में अटूट रिश्ता है जो कभी समाप्त नहीं हो सकता है बल्कि यह कहना होगा कि साहित्य और समाज का जन्मो जन्मो का रिश्ता है। जब – जब समाज अपने रास्ते से भटकता है तब – तब साहित्य समाज का मार्गदर्शन करता है। बुराइयों का उन्मूलन करता है। समाज में अच्छे संस्कारों को प्रमोट करता है। साहित्य ही समाज को विकसित बना सकता है। साहित्य भविष्य का मार्गदर्शक और अतीत का प्रेरक है।

हमें उम्मीद है आपको यह साहित्य और समाज पर लेख अति पसंद आया होगा। हम लगातार आपके लिए ऐसे ही प्रेरक, रसभरे और रोचक निबंध पेश करते रहेंगे, अतः साहित्य और समाज पर निबंध हिंदी में को सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे।

हिंदी साहित्य के बारे में अनेक रोचक जानकारी लेने के लिए> यहाँ क्लिक करे

-:यह भी पढ़े:-

धन्यबाद!

इसे शेयर करें: