इंटरनेट क्या है ? इंटरनेट का इतिहास

विश्व भर में स्थित अलग अलग कंप्यूटरो, लोकल एरिया नेटवर्को तथा वाइड एरिया नेटवर्कों को आपस में जोड़ने वाला तंत्र इंटरनेट कहलाता है।

इंटरनेट की सही परिभाषा इस प्रकार दी जाती है: इंटरनेट एक विश्व व्यापी प्रसारण क्षमता युक्त कंप्यूटर पर संग्रहित सूचना वितरित करने तथा विभिन्न कंप्यूटर उपयोगकर्ता के मध्य सहयोग व् संपर्क का माध्यम है जिसमे कि बिना किसी धर्म, देश भेदभाव आदान प्रदान करना संभव है।.

इंटरनेट का इतिहास

1962 से 1969: यही वह काल था जिसमें इंटरनेट की परिकल्पना की गई तथा इंटरनेट कादरी परिकल्पना से निकलकर एक छोटे से नेटवर्क के रूप में सामने आया.

1970 से 1973: अल्फा नेट परियोजना को आरंभ से ही सफलताएं मिलती गई वैसे तो इसके निर्माण का मुख्य उद्देश्य वैज्ञानिकों के मध्य डेटा आदान-प्रदान बारे मोट कंप्यूटिंग था लेकिन ईमेल सर्वाधिक प्रयुक्त होने वाला माध्यम बन गई.

1974 से 1981: आज से बाहर आकर तथा सामान्य लोगों को इसी अवधि में यह पता लगा कि कंप्यूटर नेटवर्क का आम जीवन में किस प्रकार का उपयोग संभव है.

1982 से 1987: इसी अवधि में इंटरनेट शब्द का प्रयोग और Arpanet के स्थान पर हुआ तथा babkon तथा विंटन सर्च ने इंटरनेट से जुड़े समस्त कंप्यूटरों के लिए एक समान प्रोटोकॉल का विकास किया जिससे कंप्यूटर चलता से सूचना का आदान प्रदान कर सकें लगभग इसी समय पर्सनल कंप्यूटर व अन्य सस्ते कंप्यूटरों का विकास हुआ जिसके फलस्वरूप इंटरनेट का अधिक तेजी से विकास हुआ.

1988 से 1990: इस अवधि में एक संचार माध्यम के रूप में इंटरनेट को माने जाने लगा साथ ही सूचना के सुरक्षित आदान-प्रदान व कंप्यूटर सुरक्षा पर भी उपयोगकर्ताओं ने ध्यान देना शुरू किया क्योंकि इस समय में एक कंप्यूटर प्रोग्राम Internet Worm में इंटरनेट से जुड़े लगभग 6000 कंप्यूटरों को अस्थाई रूप से अनुपयोगी बना दिया था.

1991 से 1993: यह वह समय था जिसमें कि इंटरनेट ने सर्वाधिक ऊंचाइयों को छुआ इंटरनेट का वाणिज्यिक उपयोग काफी बढ़ गया.

1994 से 1998: लगभग 40 मिलीयन उपयोगकर्ताओं इंटरनेट से जुड़ गए तथा इंटरनेट युग का सूत्रपात इसी अवधि में हुआ.

इंटरनेट कैसे काम करता है?

इंटरनेट एक विश्व भर के जुड़े कंप्यूटरों का नेटवर्क है जिसका की संचालन एक केंद्रीय संस्था इंटरनेट द्वारा किया जाता है यही संस्था समस्त उपयोग करता हूं उसे फीस प्राप्त करती है तथा यदि हम अपनी कुछ जानकारी इस पर प्रेषित करना चाहते हैं तो हमें इसी संस्था से मदद लेनी होगी लेकिन यह उत्तर पूरी तरह से गलत है.

लेकिन इस उत्तर के लिए हमारी व्यवस्था जिम्मेदार है क्योंकि हम एक केंद्रीकृत व्यवस्था में रहने के आदी हो चुके हैं हमारे यहां हर चीज केंद्रीकृत है इसलिए जब भी हम किसी विश्वव्यापी या अत्यंत बड़ी प्रणाली की कल्पना करते हैं तो यह स्वता ही मान लेते हैं किसके लिए तो एक उच्च अधिकार प्राप्त केंद्रीय समिति होगी जो कि इसका संचालन और नियंत्रण करेगी.

परंतु इंटरनेट के बारे में ऐसा कुछ भी नहीं है यह कोई नियंत्रण कार्य केंद्रीय समिति नहीं है और ना ही कोई केंद्रीय कंप्यूटर है इंटरनेट पर उपलब्ध समस्त सामग्री मूरत है सर्वर कहे जाने वाले कंप्यूटर हो जो कि किसी भी संस्था या कंपनियों के होते हैं पर संग्रहित रहती हैं यह सभी सर पर आपस में तार टेलीफोन या उपग्रह द्वारा आपस में डाटा आदान प्रदान करने हेतु जुड़े रहते हैं.

इंटरनेट कैसे काम करता है यह समझने के लिए टेलीफोन प्रणाली का उदाहरण लेते हैं जिस प्रकार से इंटरकॉम का प्रयोग संस्था के भीतर आसानी से दो या तीन अंकों का नंबर डायल कर किया जा सकता है इसमें किसी भी टेलीफोन एक्सचेंज की आवश्यकता नहीं होती लेकिन यदि इंटरकॉम टेलिफोन एक्सचेंज से जुड़ा हो तो कहीं भी स्थित दूसरे टेलीफोन पर बात की जा सकती है ऐसा इसलिए संभव होता है क्योंकि जैसे ही टेलीफोन से नंबर डायल किया जाता है वह नजदीकी टेलीफोन एक्सचेंज पहुंचता है तथा वहां से डायल किए गए नंबर के आधार पर अन्य वांछित टेलीफोन एक्सचेंज पर पहुंचता है वहां से टेलीफोन पर पहुंच जाता है.

इंटरनेट पर भी वांछित कंप्यूटर जिससे कि सूचना प्राप्त करनी है या जिस पर सूचना प्रेषित करनी होती है कुछ इसी तरह से ही पहुंचा जाता है जैसे ही हम कोई संदेश इंटरनेट पर प्रेषित करना या प्राप्त करना चाहते हैं वह सूचना सर्वप्रथम कंप्यूटर के सबसे नजदीकी सरवर तक पहुंचती है इस सर्वर के साथ उपलब्ध राउटर इसे इंटरनेट आईपी के आधार पर उस आईपी के नजदीकी सर्वर को प्रेषित करता है यहां पर उपलब्ध राउटर उन्हें उसे और नजदीकी सर्वर को प्रेषित कर देता है यह प्रक्रिया तब तक चलती रहती है जब तक की सूचना वांछित कंप्यूटर तक नहीं पहुंच जाती.

तो इसी प्रकार इंटरनेट काम करता है.

इंटरनेट क्या है ? इंटरनेट का इतिहास

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

शीर्ष तक स्क्रॉल करें