HomeComputerकंप्यूटर की पीढ़ियों के बारे में जानकारी

कंप्यूटर की पीढ़ियों के बारे में जानकारी

कंप्यूटर जनरेशन इन हिंदी: कंप्यूटर के जन्म से लेकर वर्तमान तक अनेक पीढ़ियो से गुजरा है जिसने उसमे अनेक प्रकार के बदलाब ला दिए हैं यहाँ मैंने कंप्यूटर की विभिन्न पीढ़ी के बारे में जानकारी दी हुई है-

1. प्रथम पीढ़ी (First Generation Of Computer) :- यह कंप्यूटर की पहली पीढ़ी है इसका समय 1946 से 1956 तक माना जाता है, इसी समय में पहली बार कंप्यूटर में वैक्यूम ट्यूब का इस्तेमाल किया गया था एवं इस काल में ENIAC, EDSEC, UNIVAC नामक कंप्यूटर का निर्माण किया गया।

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर के लक्षण-
1. आकर में अधिक बड़े।
2. आम जनता की पहुंच से दूर।
3. बहुत अधिक खर्चीले।
4. धीमी गति।
5. मशीनी और असेम्बली भाषा का प्रयोग।

2. द्वितीय पीढ़ी (Second Generation Of Computers) :- इसका समय 1956 से 1964 है इस पीढ़ी के कंप्यूटर में वैक्यूम ट्यूब के स्थान पर ट्रांज़िस्टर का पहली बार उपयोग किया गया था जिसके कारण द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर अधिक बेहतर थे प्रथम पीढ़ी से।

द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर के लक्षण-
1. प्रथम पीढ़ी की तुलना में कंप्यूटर आकर में कमी।
2. थोड़े कम खर्चीले।
3. गति में वृद्धि।
4. उच्च भाषा का प्रयोग।

3. तृतीय पीढ़ी (Third Generation of Computer) :- 1965 से 1971, इस पीढ़ी के कंप्यूटर प्रथम, द्वितीय पीढ़ी के मुकाबले अधिक बेहतर और प्रदर्शन करने वाले थे।

तृतीय पीढ़ी के कंप्यूटर के लक्षण-
1. अधिक तेज गति।
2. ……..
3.उच्चस्तर की भाषओं का उपयोग।
4. खरीदने में आसान।
5. इंटेग्रेडेड सर्किट।

4. चतुर्थ पीढ़ी (Fourth Generation Of Computers) :- इसका समय 1971 से 1985 बताया गया है। इस पीढ़ी में इंटीग्रेटेड सर्किट में अति विकास किया गया और निम्न लक्षण कंप्यूटर को प्राप्त हुए।

चौथे पीढ़ी के कंप्यूटर में लक्षण-
1. आम जनता में विश्वसनीय।
२. आसानी से काम खर्च में उपलब्ध।
3. अतिविशाल इंटीग्रेटेड सर्किट का विकास।
4. अद्भुत गति।
5. रखरखाव में आसान।
6. अधिक मेमोरी क्षमता।

पांचवी पीढ़ी (Fifth Generation of Computer) :- सं 1985 से लेकर अब तक वर्तमान और भविष्य में विकसित कंप्यूटर पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर माने जाते है। इस पीढ़ी में कंप्यूटर वैज्ञानिकों ने कृंत्रिम बुद्धि का विकास किया और वर्तमान में प्रयासरत है। आज के कंप्यूटर में मौजूद शक्ति दुनिया के हर क्षेत्र में अपनी अहम् भूमिका निभा रही है।

पांचवे पीढ़ी के कंप्यूटर में लक्षण या या विशेषताएं-
1. अब तक सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर का निर्माण।
2. एआई का प्रयोग और विकास।
3. कम्प्यूटर के विभिन्न आकर जैसे लैपटॉप, पॉमटॉप, मोबाइल आदि उपलब्ध।
4. इंटरनेट जिसके कारण दुनिया भर में लोग आपस में एक दुसरे से जुड़ सकते है।
5. मल्टीमीडिया का अद्भुत विकास।
6. नवीन अनुप्रयोग।

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी?

इसे रेट करने के लिए किसी स्टार पर क्लिक करें!

औसत रेटिंग 0 / 5. वोट काउंट: 0

अब तक कोई वोट नहीं! इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी!

हमें इस पोस्ट में सुधार करने दें!

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे सुधार सकते हैं?

Editorial Team
Editorial Team
हम इस Hindi Blog पर दैनिक जीवन में काम आने वाली विभिन्न विषयों पर उपयोगी तथा भरोसेमंद जानकारी Hindi Me उपलब्ध करवाते हैं। चाहें आप किसी भी राज्य तथा ज़िले से संबंधित हो।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Recent Post

अरे, रुको!

1 लाख रुपये महीना कमाने के लिए बिज़नेस एवं ऑनलाइन पैसे कमाने के नये नये मौके जानिए- अभी Subscribe करें!