Article 370 (धारा 370) की पूरी जानकारी

Article 370 क्या है?

5 अगस्त 2019 को जब जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाने का ऐतिहासिक फैसला लिया गया तब से Article 370 पूरे देश में चर्चा का विषय बन गया, दरअसल Article 370 जम्मू और कश्मीर पर भारतीय संविधान के अनुसार 17 नवंबर 1952 को लागू किया गया था ताकि जम्मू कश्मीर को भारत के अन्य राज्यों के मुकाबले अधिक सुविधाएं या Special Status दिया जा सके।

इस धारा के लगने से जम्मू कश्मीर की रक्षा पर, विदेशी और सभी संचार के मामले केंद्र सरकार द्वारा संपन्न किये जाते है इसके आलावा अन्य चीजे या मुद्दों पर राज्य सरकार का ही निर्णय होता है याद धारा भारत के किसी भी राज्य पर लगाई जा सकती है लेकिन आज तक जम्मू कश्मीर के आलावा किसी भी राज्य में या धारा नहीं लगाई गई है।

Article 370 का इतिहास क्या है?

भारत के संविधान के अनुसार, धारा 370 यानी Article 370 एक विशेष प्रकार की कानून व्यवस्था है जो किसी राज्य को विशेष दर्जा प्रदान करती है। अगर हम इसके इतिहास की बात करे तो इसे 17 नवंबर 1952 को लागू किया गया था, असल में यह धारा जम्मू कश्मीर के लिए विशेषकर बनाया गया था।

इस Article के अनुसार, किसी भी राज्य जिस पर यह धारा लागू होती है उस राज्य की राज्य विधानसभा को अपना खुद का संविधान एवं अन्य विशिष्ट कानून बनाने की अनुमति होती है मतलब राज्य सरकार को किसी भी कानून को पारित करने के लिए केंद्र सरकार से मंजूरी लेनी की या सलाह मसोरा करने की जरुरत नहीं होती है। एवं राज्य चाहे तो अपना अलग तिरंगा भी बना सकता है यह वैसा ही है जैसे की किसी एक राष्ट्र मे दो तिरंगा और सविधान का होना।

Article 370 को क्यूँ लगाया गया था?

जब 15 अगस्त 1947 को भारत की आजादी समय भारत तो आजाद देश घोषित हुआ लेकिन साथ ही में जम्मू कश्मीर भी आजाद हुआ था, तभी पहले भारत के गवर्नल Lord Mounbattarn ने सभी रियाशतो को यह अधिकार दे दिया की वह चाहे तो भारत के साथ मिल सकती है या अपना स्वतंत्र राज्य स्थापित कर सकती है तभी जम्मू कश्मीर के राजा हरिसिंह ने स्वतंत्र राज्य स्थापित करने का सोचा।

इसी बहाने पाकिस्तान को एक मौका मिल गया जम्मू कश्मीर हत्याने का, तभी पाकिस्तानी सेना और आजाद कश्मीर सेना ने कश्मीर पर आकर्मण कर दिया हालांकि पाकिस्तान कश्मीर का काफी हिस्सा हत्याने में सफल भी हो गया परन्तु फिर हरिसिंह मदद के लिए भारत के पास आये और भारत ने मदद के बदले एक शर्त रख दी।

और Instruments of Accession of jammu and Kashmir to India पर हस्ताक्षर करवा लिए।

इस समझौते के अनुसार जम्मू और कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा दिया गया था और इसी के लिए धारा 370 लागू की गई थी।

Article 370 (धारा 370) की पूरी जानकारी

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

शीर्ष तक स्क्रॉल करें