Saturday, October 1, 2022
HomeSarkari Helpएलएलपी कंपनी रजिस्ट्रेशन कैसे करें | LLP Company की पूरी जानकारी

एलएलपी कंपनी रजिस्ट्रेशन कैसे करें | LLP Company की पूरी जानकारी

हमने पिछले आर्टिकल में प्रोपराइटरशिप, पार्टनरशिप फर्म और प्राइवेट लिमिटेड कंपनी रजिस्ट्रेशन के बारे में जानकारी दी थी इस आर्टिकल में लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप यानी एलएलपी (LLP) की जानकारी देने वाले हैं। कंपनी रजिस्ट्रेशन के अंतर्गत आज हम Limited Liability Partnership (LLP) क्या है ? इसकी पूरी जानकारी देने वाले हैं।

साथ ही लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप वाली कंपनियां ही क्यों रजिस्टर करवाएं इन के क्या फायदे होते हैं । यहां हम आपको पूरा पंजीकरण प्रक्रिया Step By Step बताएंगे कि एलएलपी कंपनी रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन भारत में कैसे होती है और उसके लिए क्या-क्या दस्तावेज लगते हैं, साथ ही कितनी फीस लगती है।

तो चलिए लेख में हम एलएलपी कंपनी रजिस्ट्रेशन इन इंडिया | डाक्यूमेंट्स | फीस | प्रोसेस इन हिंदी की पूर्ण जानकारी हासिल करते हैं।

एलएलपी क्या होती है (What is LLP)

दोस्तों भारत में कई तरह से कंपनी का रजिस्ट्रेशन होता है उसी में से एक है LLP का पूरा नाम लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप होता है। यह कानून की नजर में एक अलग कानूनी इकाई मानी जाती है इसमें ‘सीमित देयता’ की बात कही जाती है। यह कंपनी लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप एक्ट 2008, जो कि 21 मार्च 2008 से लागू है, इसके अंतर्गत आती है।

एलएलपी के अंदर आमतौर पर सचिव, चार्टर्ड अकाउंट (CA), वकील (Lawyers) इत्यादि पेशेवर रजिस्ट्रेशन करवाते हैं साथ ही कुछ छोटे और मध्यम आकार के एसएमई (SME)

एलएलपी के फायदे (LLP Registration Benefits)

  • LLP स्ट्रक्चर किसी कंपनी द्वारा फॉलो किया जाता है।
  • LLP की कानून की नजर में एक अपनी अलग इकाई मानी जाती है।
  • LLP Registration करवाना बेहद आसान है क्योंकि इसमें खर्चा कम होता है।
  • इस कंपनी प्रकार में एग्रीमेंट के हिसाब से हर पार्टनर की जिम्मेदारी सीमित होती है।
  • किसी पार्टनरशिप फर्म की तुलना में एलएलपी के अंदर कानूनी कंप्लायंस अधिक है।
  • एलएलपी के अंतर्गत रजिस्टर की जाने वाली कंपनी पर सरकार के कुछ प्रतिबंध भी लागू होते हैं।

एलएलपी पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज (LLP Registration Documents)

एलएलपी रजिस्ट्रेशन के लिए कोई जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जिनकी लिस्ट हमने नीचे प्रदर्शित की है।

  • सभी पार्टनर के एड्रेस प्रूफ
  • पैन कार्ड
  • कंपनी का नाम
  • बिजनेस एड्रेस प्रूफ
  • वोटर आईडी कार्ड
  • आधार कार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • रेंट एग्रीमेंट

एलएलपी रजिस्ट्रेशन के लिए पात्रता (LLP Registration Requirements)

  • कम से कम दो पार्टनर होने चाहिए
  • पार्टनर की उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • किसी भी तरह की पूंजी की आवश्यकता नहीं होती है।
  • कम से कम कोई एक पार्टनर भारत का निवासी होना चाहिए।

एलएलपी कंपनी का रजिस्ट्रेशन कैसे होता है

दोस्तों अगर आप एक एलएलपी सेट अप करना चाहते हैं तो हमने यहां पर आपकी मदद के लिए स्टेप बाय स्टेप LLP Registration Process बताई है।

स्टेप 1: DPIN के लिए अप्लाई करें (Designated Partner Identification Number)

आपकी एलएलपी में जितने भी पार्टनर शामिल होना चाहते हैं उन सभी पार्टनर्स का एक यूनिक आईडी बनता है वह यूनिक आईडी पिन कहलाता है तो सबसे पहले आपको डी पीन का रीजन करवाना होता है।

स्टेप 2: LLP Name Approval

एलएलपी का नाम आपको अब सोचने की आवश्यकता है क्योंकि जो ROC (Registrar of Companies) होता है यानी रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज होता है उसके अंदर आपको अपनी एलएलपी का नाम भेजना होता है अगर आपके द्वारा भेजा गया नाम किसी पहले से मौजूदा कंपनी से मिलता-जुलता है या उस नाम से पहले से कोई कंपनी है तो आपका नाम रिजेक्ट कर दिया जाता है तो इसलिए आपको Unique Name भेजने की आवश्यकता है।

स्टेप 3: Digital Signature (डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट)

अभी आपको एलएलपी कंपनी के अर्थराइज सिग्नेचर की आवश्यकता होती है इसके लिए आपके सभी पार्टनर उसका डिजिटल सिगनेचर सर्टिफिकेट बनता है तो आपको इस सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई करने की आवश्यकता है यह Certificate Online Apply किया जा सकता है।

स्टेप 4: LLP Aggrement (LLP एग्रीमेंट बनाना)

अब आपको एक सीए की आवश्यकता होती है जो आपके एलएलपी के लिए एग्रीमेंट ड्राफ्ट तैयार करता है जिसमें सभी पार्टनर के बीच होने वाले अनुबंध की जानकारी नियम और शर्तें होती हैं इस एग्रीमेंट को एमसीए की वेबसाइट www.mca.gov.in पर फॉर्म नंबर 3 के साथ सम्मिट करना होता है।

स्टेप 5: Incorporation Certificate (LLP का प्रमाण पत्र)

आपके द्वारा प्रदान किए गए क्या जो प्रक्रिया की गई उसकी मिलान करने के बाद जब रिसर्च प्रोसेस पूरा हो जाता है तब अंत में आप को रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज के तरफ से एलएलपी के लिए रजिस्ट्रेशन का सर्टिफिकेट प्राप्त हो जाता है यह सर्टिफिकेट एलएलपी का नाम और एड्रेस का प्रूफ होना चाहता है।

स्टेप 6: Apply For Pan & Bank Account

क्योंकि अब आपका LLP Company बन चुका है अब आपको पैन कार्ड और बैंक अकाउंट के लिए अप्लाई कर देना चाहिए।

LLP Registration Form

  • LLP RUN – कंपनी का नाम चुनने के लिए फॉर्म
  • FiLLiP – एलएलपी कंपनी बनाने के लिए फॉर्म
  • FORM 5 – नाम बदलने की सूचना देने हेतु फॉर्म
  • FORM 17 – किसी फर्म को LLP में Convert करने वाला फॉर्म
  • FORM 18 – प्राइवेट लिमिटेड कंपनी या गैर-सूचीबद्ध कंपनी का एलएलपी में रूपांतरण के लिए फॉर्म

Lakshya Narbariyahttps://lakshya.narbariya.com
लक्ष्य नरबरिया, बीएससी कंप्यूटर साइंस में ग्रेजुएट, ब्लॉगर, यूटूबर, ऑथर, डिजिटल मार्केटर, नेटवर्क मार्केटर तथा Narbariya.com के फाउंडर है। जो इस Hindi Tech Blog पर टेक्नोलॉजी पर आधारित विभिन्न जानकारी साझा करते हैं।
RELATED ARTICLES